किस सत्ता के लालच में …?

अब मेरे जख्मों का तू हिसाब न पूछ
किसने दिये जख्म उसका नाम न पूछ,


तुम और
तुम्हारा वो कानून
मेरे व मेरे आने वाली
पीढ़ी के दुश्मन
क्यों हो गए ?

तुम्हारी कलम ने
मुझे और मेरी आने वाली
पीढ़ी को श्रापित
क्यों कर दिया ?

तुम्हारे
इस श्राप से
क्या कभी में ओर मेरी
आने वाली पीढियां
मुक्त हो पायेंगी ?

तुम जानते थे
क्या ? कोई गरीब ब्राह्मण
नही है , ना कभी
पैदा होगा ?

तुमने उस
पवित्र महाग्रन्थ
सविंधान में मुझे ओर
मेरी आने वाली पीढ़ी को
कहाँ दो गज जमीन
दी है दफन होने
के लिए ?

तुमने
उस आरक्षण रूपी
राक्षस से
मेरा ओर मेरी
आने वाली पीढ़ी का
वध क्यों करवाया ?

कौन दोषी है
उन हजारों अबोध
भोले बच्चों की आत्महत्या,
या मानू उनकी हत्या ,
जिन्हें तुम्हारे उस
राक्षस आरक्षण
ने अपनी बली बना लिया ,

किस सत्ता के लालच में?
तुमने ऐसा जघन्य कृत्य किया
इन प्रश्नों पर तू मौन क्यों है?
बोल भी$$$$बोल
कुछ तो बोल ?

@अजय बजरँगी

Advertisements

10 thoughts on “किस सत्ता के लालच में …?

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

w

Connecting to %s